Home » हिंदी » स्वास्थ्य » गेहूं के जवारे के फायदे | Wheatgrass Benefits in Hindi

गेहूं के जवारे के फायदे | Wheatgrass Benefits in Hindi

गेहूँ का ज्वारा अर्थात गेहूँ के छोटे-छोटे पौधों की हरी-हरी पत्ती, जिसमे है शुद्ध रक्त बनाने की अद्भुत शक्ति. तभी तो इन ज्वारो के रस को “ग्रीन ब्लड” कहा गया है.स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक और चिकित्‍सकीय गुणों से भरपूर गेहूं के ज्‍वारे को व्हीटग्रास के नाम से भी जानते है। ये सिर्फ़ एक आयुर्वेदिक औषधि ही नहीं बल्कि एक उत्तम आहार भी है। गेहूं के जवारे को हम जूस, पाउडर और टेबलेट किसी भी तरह से ले सकते है पर प्रतिदिन ताजा जूस बना कर पिने से ज्यादा फायदा मिलता है। रोजाना व्हीटग्रास जूस के सेवन से बॉडी स्टैमिना और एनर्जी तो बढ़ती ही है साथ ही कई प्रकार के रोगों का इलाज करने में भी मदद मिलती है।

gehu ke jaware ke fayde
gehu ke jaware ke fayde

इसमें 17 तरह के अमीनो एसिड, एंजाइम, विटामिन और प्रोटीन होते हैं। जो बॉडी की मृत कोशिकाओं को पुनर्जीवन देते हैं और शरीर का पीएच बैलेंस संतुलित रखते हैं।

व्हीटग्रास जूस के फायदे (Wheatgrass Benefits in Hindi) :

1. त्वचा को जवान रखे
प्राकृतिक न्यूट्रीशन और एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर व्हीटग्रास आपको जल्दी बूढ़ा होने नहीं देता है। रोजाना इसको पीने से स्किन हाइड्रेट हो जाती है और चेहरे पर पिंपल्स दाग धब्बे और झुर्रियां साफ हो जाते हैं। आप व्हीटग्रास जूस का प्रयोग सीधे ही चेहरे के दाग धब्बों को मिटाने के लिए भी कर सकते हैं।

2. बालों को काला करे
असमय सफेद होते बालों को काला करने के लिए रोज गेहूं के ज्वारे का रस पीना लाभकारी होती है। अगर बालों में रूसी की समस्या है तो आप इसके रस से बाल धोकर 15 मिनट बाद शैंपू कर लें रूसी खत्म हो जाएगी।

3. हीमोग्लोबिन बढ़ाए
यह शरीर में ब्लड सरकुलेशन को भी बढ़ाता है, जिससे शरीर में नया खून बनता है और यह नया खून पुराने खून को डिटॉक्स कर देता है। साथ ही साथ बॉडी में हीमोग्लोबिन की मात्रा भी बढ़ जाती है।

4. डायबिटीज कंट्रोल करे
गेहूं का ज्‍वारे का पाउडर खासतौर पर डायबिटीज के रोगियों के लिए लाभदायक होता है। यह कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण में देरी उत्‍पन्‍न कर ब्‍लड शुगर के स्तर को विनियमित करने में मदद करता है। इस प्रकार, यह डायबिटीज को नियंत्रित करता है।

5. कैंसर का उपचार
कैंसर का उपचार करने में व्हीटग्रास जूस पीना रामबाण की तरह काम करता है। गेहूं के ज्‍वारे में मौजूद क्लोरोफिल, रेडिएशन के हानिकारक प्रभावों को कम करने में मदद करता है। इस प्रकार, गेहुं के ज्‍वारे का पाउडर अक्सर कीमोथेरेपी / रेडियोथेरेपी के दौरान कैंसर के रोगियों को लेने के लिए कहा जाता है

जानिए : सोने से पहले पानी पीने के फायदे

6. दांतों की सड़न का उपाय
यदि आपके मुह से बदबू आती है तो ऐसे में रोजाना 4-5 गेहूँ की घास को मुह में रख कर थोड़े देर तक चबाए | या Wheatgrass juice को अपने मुह में थोड़ी देर के लिए रखे और दिन में 2 बार brush करे, ऐसा करने से 3 से 5 दिनों में आपके मुह से बदबू आना बंद हो जायेगी

– मुंह की बदबू आने पर 3 से 4 बार गेहूं के ज्वारे चबाने से मुंह की दुर्गंध खत्म हो जाती है।

7. कब्ज का उपाय
यह फाइबर का एक प्रचुर स्रोत है जो कब्ज़ के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। गेंहू के जवारे शरीर में उपापचयी (metabolic) क्रियाओं को उत्तेजित कर मल त्याग क्रिया को आसान बना देता है। यह मल-त्याग क्रिया को विनियमित कर कब्ज़ पर रोक लगातें हैं और रेक्टल ब्लीडिंग से भी बचाते हैं।

8. आंखों की रोशनी बढ़ाए
अगर आप चश्मा पहनते है या अगर आपकी आखों की रोशनी कम हो रही हो तो आपको गेहूँ के घास की जूस को कम से कम 1/2 गिलास, week में 2 बार पीना चाहिये, ताकि आपकी आँखों को रोशनी बनी रहे, व्हीटग्रास जूस में विटामिन ए की मात्रा अधिक होती है, जो आपकी eyesight को भी अच्छा बनाये रखने में मदद करता है

जानिए : दही खाने के ये 10 बड़े फायदे

गेहूं के जवारे का रस कैसे बनाए : व्हीट ग्रास जूस रेसिपी

1. आठ से दस गेंहू के ज्वारे की पत्तियां जड़ से काट कर अच्छे से धो ले। अब इसे कूट कूट कर इसका रस निकाल ले।

2. गेंहू की पत्तियां कूटने के बाद एक साफ़ कपडा ले और कुटी हुई पत्तियां डाल कर इसका रस निचोड़ ले। आप जूस निकालने वाली मशीन से भी व्हीट ग्रास जूस तैयार कर सकते है।

3. व्हीटग्रास जूस निकलने के बाद इसे रखे नहीं तुरंत पी जाए और एक बात का विशेष ध्यान रखे की जूस को चाय की तरह सीप सीप कर के ही पिए, 1 घूंट में कभी ना पिए।

4. जूस निकालते समय इसमें आंवला, नीम, गिलोय, तुलसी, शहद और अदरक भी डाल सकते है। इनके प्रयोग से जूस के गुण और भी बढ़ जाते है।

5. आप इस जूस में थोड़ा पानी भी मिला सकते है पर ध्यान रहे इसमें नींबू और नमक बिल्कुल ना डाले।

जानिए: सोने से पहले गुड़ खाने के ये फायदे

गेहूं के जवारे का रस बनाते समय ध्यान रखने योग्य बातें  :

  • गेहूँ के ज्वारे से रस निकालते समय यह ध्यान रहे कि पत्तियों में से जड़ वाला सफेद हिस्सा काट कर फेंक दे। केवल हरे हिस्से का ही रस सेवन कर लेना ही विशेष लाभकारी होता है। रस निकालने के पहले ज्वारे को धो भी लेना चाहिए. यह ध्यान रहे कि जिस ज्वारे से रस निकाला जाय उसकी ऊंचाई अधिकतम पांच से छः इंच ही हो।
  • इसको पीने के आधा घंटा पहले और आधा घंटा बाद कुछ भी खाना पीना नहीं चाहिए।

आपको यह पोस्ट कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बतायें और पोस्ट को शेयर भी करें

ये भी पढ़ें :

जानिए :आपके शरीर में भी हैं ये लक्षण तो खतरे में है आपकी किडनी

जानिए : चने खाने के ये फायदे

जानिए : खाली पेट लहसुन की 2 कलियाँ खाने के ये फायदे

wheat grass juice pine ke fayde, wheat grass juice benefits, gehu ke jvare ka juice pine ke fayde, gehu ke jvare ke juice ke labh,व्हीटग्रास जूस ,गेहूं के जवारे का रस,Wheatgrass Benefits in Hindi,How to make wheatgrass juice in hindi,गेहूं के जवारे का पाउडर,गेहूं के जवारे का रस कैसे बनाए,गेंहू के जवारे केसे उगाए,व्हीट ग्रास जूस रेसिपी इन हिंदी,व्हीटग्रास जूस कैसे बनाए,व्हीटग्रास पाउडर पतंजलि,

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *