Home » हिंदी » स्वास्थ्य » सीने में जलन से तुरंत राहत दिलाएंगे ये 10 सस्‍ते घरेलू नुस्‍खे

सीने में जलन से तुरंत राहत दिलाएंगे ये 10 सस्‍ते घरेलू नुस्‍खे

सीने में जलन हर किसी की चिर-परिचित समस्या है। कोई बिरला ही होगा जिसने यह कष्ट नहीं भोगा होगा। खाने-पीने में थोड़ी बदपरहेज़ी बरतते ही यह तकलीफ हो सकती है। इससे कलेजा मुँह को आ जाता है, सीने में जलन होने लगती है, मुँह में खारा-खट्टा पानी भर आता है और भोजन ऊपर छाती में चढ़ आता है। ऐसे में मरीज़ अनायास ही एंटासिड या हाजमे की गोली लेने को अग्रसर हो जाता है।

सीने में जलन
सीने में जलन

सीने में जलन एसिड भाटा का एक सामान्य लक्षण होता है। यह एक ऐसी स्थिति होती हैं, जिसमें पेट की सामग्री (भोजन) एक दबाव के द्वारा वापस गले में आने की कोशिश करती हैं, जिस कारण से सीने के निचले हिस्से में जलन होने लगती है।क्योंकि पेट की सामग्री वापस इसोफेगस में आ जाती है। इसोफेगस एक प्रकार की नली होती है, जो खाने को मुंह से पेट तक लेकर जाती है। सीने में जलन के साथ अक्सर गले या मुंह में एक कड़वा स्वाद भी महसूस होता है। ज्यादा खाने से या लेट जाने से इसके लक्षण और अधिक बढ़ सकते हैं।

सीने में जलन के लिए घरेलू नुस्‍खे :

1.एक गिलास पानी में दो चम्मच शहद और दो चम्मच सेब का सिरका डालकर खाना खाने से पहले रोजाना पिएं। यह एक असरदार उपाय है।

2.सीने में जलन से बचने के लिए भोजन करने के बाद गुड़ जरुर खाएं। ऐसा करने से एसिड की समस्या नहीं होती है।

3.पानी में निम्बू मिलाकर पीने से भी सीने की जलन में बहुत लाभ मिलता है

4.अदरक का प्रयोग भरपूर मात्रा में करें । पीसी हुई अदरक चाय में प्रयोग करने से भी सीने की जलन कम होती है।

5.भोजन के पहले अलो वेरा जूस का सेवन करें ।

चर्म रोगों को ठीक करते हैं ये घरेलू नुस्खे

6.भोजन खाने के बाद सौंफ जरूर चबाएं, इससे खाना असानी से पच जाता है।

7.सीने में जलन हृदय की बीमारी है। इस समस्या से निजात पाने के लिए गुड़ बहुत ही फायदेमंद औषधि है। गुड़ का शर्बत बनाकर पीने से सीने की जलन से आप निजात पा सकते हैं

8.लहुसन दिल की बीमारी को ठीक करता है। लहसुन का सेवन करने से पेट से हवा बाहर निकल जाती है और सीने की जलन खत्म होने लगती है। लहसुन दिल के रोगों पर प्रभावी रूप से काम करता है

9.सौंफ एवं काले जीरे का काढ़ा जलन को दूर भगाता है। 1 चम्मच उपरोक्त दी हुई चीज़ों को पानी में गरम करके पियें।

10.दही पेट की पाचन क्रिया में बेहद मददगार होती है। यदि आप इसकी लस्सी बना लें तो यह और भी बेहतर होगा।

ये भी पढ़ें :

गेहूं के जवारे के फायदे | Wheatgrass Benefits in Hindi

जानिए : दही कब बन जाता है जहर

जानिए :आपके शरीर में भी हैं ये लक्षण तो खतरे में है आपकी किडनी

जानिए : खाली पेट लहसुन की 2 कलियाँ खाने के ये फायदे

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *