Home » हिंदी » जीवन में निराश हो तो : 12 साल के गरीब लड़के से जरूर सीखे जिंदगी जीने का तरीका

जीवन में निराश हो तो : 12 साल के गरीब लड़के से जरूर सीखे जिंदगी जीने का तरीका

होटल में काम करने वाला12-13 वर्षीय नौकर ग्राहकों के पानी माँगने पर एक साथ चार गिलास हाथ की उँगलियों से पकड़कर टेबल पर रखने के लिए जैसे ही झुका,उनमें से एक ग्राहक ने देखा….
नौकर की चारों उँगलियाँ गिलास में डुबी हुई थीं और उन्हीं से उसने गिलास पकड़ रखे थे। ग्राहक भड़ककर नौकर से बोला-
‘शरम नहीं आती? अपनी गंदी उँगलियाँ गिलास में डुबाकर लाया है?’

नौकर यह सुनकर घबरा गया।उसके हाथ से गिलास छूट गए और नीचे गिरकर टुकड़े-टुकड़े हो गए। गिलास का सारा पानी उछलकर उसी ग्राहक
के कपड़ों पर गिर पड़ा।
ग्राहक बुरी तरह चिल्ला उठा, अबे तूने यह क्या किया?
‘होटल के मालिक से नहीं रहा गया।वह शीघ्रता से चलकर आया और उसने दो-तीन चाँटे गाल पर जड़ दिए और बोला- देखकर काम क्यों नहीं करता कितनी बार कहा कि उँगलियाँ डुबाकर गिलास नहीं लाना चाहिए, पर कमबख्त तू मानता ही नहीं है। आज ही तेरा हिसाब कर देता हूँ!’
यह कहकर होटल मालिक ने ग्राहक से क्षमा माँगी।
ग्राहक के जाते ही उसने नौकर को बुलाया और पुचकारते हुए बोला-
‘बेटा, मैंने ग्राहक के सामने तुझे चाँटे लगाए, तुझे बुरा तो नहीं लगा?’
इस पर नौकर ने मासूमियत से कहा-
‘मालिक! मैं बुरा मानने के लिए थोड़े ही नौकरी कर रहा हूँ। अपना पेट पालने के लिए कर रहा हूँ!’..

इसके बाद पैसा लेकर वह मेडिकल के दुकान पर गया. वहाँ से अपनी माँ के लिए दवाइयां खरीदी और फिर कुछ खाने के लिए सामान भी खरीदा और कुछ पैसा बचा भी लिया.

सारा समान लेकर वह झूमते हुए घर जा रहा था. उसके चहरे पर अब मुस्कान था. उसने अपने माँ का मदद किया. उसने अपने माँ के लिए दवा भी खरीदा है. माँ देखेगी तो कितना खुश होगी. आज मैं पहली बार पैसा कमाया हूँ. मैं भी पैसा कमा सकता हूँ और माँ को दवा करा सकता हौं. उसने टोकरी को टोपी बना लिया उसे अपने सर पर ढक किया और ख़ुशी से घर जाने लगा

उसका बचपन खत्म हो गया था. उसका पढाई खत्म हो गया था. फिर भी वह खुश था. क्यों की उसने पेट की भूख को शांत करना जान गया था. जो उसी उम्र में उसे बहुत कुछ सिखा गई. पेट की भूख को उम्र नहीं देखती और ना ही परिस्थिति.

यह कहानी आपको कैसी लगी कमेंट करे और हमारे फेसबुक पोस्ट को शेयर करें



 

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *